.....

JK : कश्मीर में फिर हिंसा भड़की

कश्मीर घाटी में बुधवार को ताजा झड़पों में कई सुरक्षा कर्मियों समेत दर्जनों लोग घायल हो गए। इस बीच यहां एक अस्पताल के बाहर पेलेट गन से एक युवक की मौत के बाद घाटी में जारी अशांति में मरने वालों की तादाद 51 पहुंच गई।
अधिकारियों ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए ऐतिहाती उपायों के तहत घाटी के कई और इलाकों में आज कफ्र्यू लगा दिया, लेकिन शहर के छत्ताबल इलाके सहित कई जगहों पर इन आदेशों का उल्लंघन हुआ। छत्ताबल का रहने वाला रियाज अहमद कल रात कथित तौर पर सुरक्षा बलों द्वारा मारा गया था।

घाटी के कई हिस्सों से प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच झड़प की खबरें आई हैं। दक्षिण कश्मीर के कुलगाम जिले में व्यापक स्तर पर हिंसा हुई जिसमें कई सुरक्षाकर्मियों समेत दर्जनों लोग घायल हुए। अनाधिकारिक रपटों में घायलों की संख्या 70 बताई गई है, लेकिन एक पुलिस प्रवक्ता ने इस मामले पर टिप्पणी करने से इनकार किया।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि एटीएम सुरक्षा गार्ड अहमद का शव एसएमएचएस अस्पताल के बाहर पाया गया। शुरुआत में यह साफ नहीं था कि उस युवक को कैसे मारा गया, लेकिन शव के एक्स-रे से उसमें 300 से अधिक छर्रे दिखे।
इस युवक की मत्यु से आज सुबह बगियास और इसके आसपास के क्षेत्रों में लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया। अधिकारी ने कहा कि पुलिस ने अज्ञात सुरक्षा बल कर्मियों के खिलाफ धारा 302 आरपीसी (हत्या) का मामला दर्ज किया है और इस मामले की जांच शुरू की है क्योंकि उस इलाके में कल रात किसी तरह की हिंसा की कोई खबर नहीं थी जहां युवक मृत पाया गया।

अधिकारियों ने कल हुए हिंसक प्रदर्शन के मददेनजर कर्फ्यू का दायरा बढ़ाते हुए घाटी के और इलाकों को इसमें शामिल कर लिया। कल के हिंसक प्रदर्शन से पुलवामा जिले के लेथपुरा इलाके में एक युवक की मौत हो गई और कई अन्य घायल हो गए।
उन्होंने कहा कि पुराने शहर के पांच पुलिस थानो में कर्फ्यू लागू रहा और इसका दायरा बढ़ाकर बटमालू, शहीदगंज, सौरा, जादीबल, कमरवारी और बेमिना को भी इसमें शामिल कर लिया गया।

अधिकारियों ने कहा कि बारामुला जिले के खानपुरा इलाके, पुलवामा जिले के अवंतीपुरा एवं पंपोर में भी कर्फ्यू लगा दिया गया, जबकि दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग कस्बे में कर्फ्यू लागू है। कश्मीर के बाकी हिस्से में धारा 144 लागू है।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment