.....

IS की रमजान में दंगा भड़काने की साजिश, हैदराबाद में 9 जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी,मंदिर में बीफ रखने की थी योजना

राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने बुधवार को हैदराबाद में 9 जगहों पर ताबड़तोड़ छापेमारी की. इस दौरान बर्बर आतंकी संगठन ISIS से संबंध रखने वाले 5 युवाओं को गिरफ्तार किया गया, जबकि 6 अन्य को हिरासत में रखकर पूछताछ भी की जा रही है. 

जांच एजेंसी का कहना है कि आईएस रमजान के पाक महीने में दंगा भड़काने की साजिश रच रहा था. यही नहीं, इसके लिए चारमीनार के पास मंदिर में गोमांस रखने की भी योजना थी.को बुधवार की छापेमारी में गिरफ्तार युवाओं के पास से शक्तिशाली बम और करीब 15 लाख रुपये कैश भी मिले हैं. 

जांच एजेंसी ने खुलासा किया है कि आतंकी संगठन की योजना हैदराबाद शहर को धमाकों से दहलाने की थी. वो शहर के वीवीआईपी और भीड़भाड़ वाले इलाकों को निशाना बनाना चाहते थे. लेकिन, उनका मुख्य मकसद शहर में सद्भाव बिगाड़ने और दंगा भड़काने की थी. इसके लिए वो चारमीनार के पास स्थित भाग्यलक्ष्मी मंदिर में गोमांस और भैंस का मीट रखने वाले थे.

जांच एजेंसी के मुताबिक आईएस का हैदराबाद से गिरफ्तार युवा आईएस के हैंडलर शफी अरमर के साथ नियमित रूप से संपर्क में थे. इन युवकों पर पिछले 4-5 महीनों से एनआईए नजर बनाए हुए था.

एनआईए ने 25 जून को इन युवकों की टेलिफोन पर हुई बातचीत को सुनने के बाद संदिग्धों को हिरासत में लेने का करने का फैसला किया.

 एनआईए के सूत्र ने बताया, 'बातचीत के दौरान एक संदिग्ध ने दूसरे व्यक्ति से फोन पर उस दिन गाय और भैंस के मांस के चार-चार टुकड़े, और अगले दिन गोमांस के सात टुकड़े लाने को कहा.'

 सूत्र ने बताया कि हमला अगले कुछ दिनों में हो सकता था और मॉड्यूल के लिए फंड दुबई के रास्ते निकल चुका था.
एनआईए ISIS के हैदराबाद मॉड्यूल के भंडाफोड़ को बड़ी सफलता मान रही है, क्योंकि यह भारत में आईएस से प्रेरित पहला बड़ा आधुनिक हथियारबंद गुट है. हालांकि इससे पहले रूड़की में मॉड्यूल का भंडाफोड़ हुआ था, लेकिन उसके पास मिले हथि‍यार इतने चिंताजनक नहीं थे.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment