.....

सीहोरवाले पंडित प्रदीप मिश्रा पर देशद्रोह के मुकदमे की मांग

  मध्य प्रदेश के खंडवा में प्रख्यात कथावाचक पंडित प्रदीप मिश्रा के खिलाफ देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने की मांग उठी है। बहुजन समाज और संविधान को मानने वाले लोगों ने इसके लिए ज्ञापन दिया है। इन लोगों का आरोप है कि पंडित प्रदीप मिश्रा ने भजन के दौरान संविधान बदलने की बात कही है, जो देशद्रोह का काम है। इसके मुताबिक उन्होंने खुले तौर पर हजारों लोगों की मौजूदगी में संविधान के विरोध में बात कही है। इसलिए उन पर देशद्रोह का मुकदमा चलाया जाना चाहिए। 


संविधान की आस्था पर चोट
गौरलतब है कि नर्मदापुरम में शिवपुराण कथा के दौरान पंडित प्रदीप मिश्रा ने कहा था कि अब देश का संविधान बदलकर भारत को हिन्दू राष्ट्र घोषित कर देना चाहिए। इसी बात को लेकर अब बहुजन समाज ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। इसके लिए डीएम ऑफिस में ज्ञापन सौंपा गया है। बहुजन समाज ने अपने ज्ञापन में कहाकि पं. प्रदीप मिश्रा के बयान से संविधान में आस्था रखने वाले लोगों को चोट पहुंची है। उन्हें भविष्य में इस तरह से संविधान को लेकर कोई बयान नहीं देना चाहिए। बहुजन समाज के लोगों ने आरोप लगाया कि उन्होंने साफ तौर पर संविधान को बदलने की बात कही है न कि संशोधन की। वैसे भी संविधान का संशोधन संसद में किया जाता है न कि किसी धर्मसभा में। 

बताया दुस्साहस
बहुजन समाज के प्रेमलाल कोठारे ने बताया कि हम सभी बहुजन समाज के लोग आज यहां ज्ञापन सौंपने आए हैं। पंडित प्रदीप मिश्रा द्वारा नर्मदापुरम में एक कथा के दौरान उन्होंने संविधान को बदलने की बात कही थी। पं. प्रदीप मिश्रा को ज्ञात होना चाहिए कि वह संविधान के विरोध में या राष्ट्रीय प्रतीकों के विरोध में कोई बात कहते हैं तो यह राष्ट्रद्रोह की श्रेणी में आता है। लेकिन उनके द्वारा यह दुस्साहस किया गया है जिससे संविधान को मानने वाले लोगों के मन में हताषा और विरोध है। ऐसे पंडित पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज होना चाहिए। 

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment