.....

कोई भी दल हो, उसे विकासवाद की राजनीति के लिए मजबूर करना है-प्रधानमंत्री

 नई दिल्ली : भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारियों की बैठक में बोलते हुए पीएम मोदी ने कहा कि भारत को इस तरह से देखा जाता है जहां पर लोग महत्वाकांक्षा से भरपूर हैं। अब भारत का हर नागरिक काम को पूरा होते देखना चाहता है, वह इसके परिणाम को देखना चाहता है। ऐसी स्थिति में सरकार की जिम्मेदारी बहुत अधिक बढ़ जाती है। पीएम मोदी ने कहा कि जिस एक और विषय पर हमें निरंतर काम करते रहना है वो है देश में विकास वाद की राजनीति की चौतरफा, चारो दिशा में स्थापना होनी चाहिए। कोई भी दल हो, उसको भी विकासवाद की राजनीति पर आने के लिए मजबूर करना है। आज गरीब से गरीब भी अपने आसपास लोगों को योजनाओं का लाभ मिलते देख रहा है। वो आज बहुत विश्वास से कहता है कि एक न एक दिन मुझे भी इस योजना का लाभ अवश्य मिलेगा।


प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार पर, सरकार की व्यवस्थाओं पर, सरकार के डिलीवरी मैकेनिज्म पर किसी समय देश का जो भरोसा उठ गया था। 2014 के बाद जनता जनार्दन के आशीर्वाद से भाजपा सरकार उसे वापस लेकर आई है। मैं सैचुरेशन की बात करता हूं, यह सिर्फ पूर्णता का आंकड़ा भर नहीं है। ये भेदभाव, भाई-भतीजावाद, तुष्टिकरण, भ्रष्टाचार, के चंगुल से देश को बाहर निकालने का माध्यम है। पिछले 8 साल देश के छोटे किसानों, श्रमिकों, मध्यम वर्ग के लोगों की अपेक्षा को पूरा करने वाले रहे हैं। 8 साल के संतुलित विकास, सामाजिक न्याय और सामाजिक सुरक्षा के रहे हैं। माता बहनों, बेटियों के सशक्तिकरण के रहे है, उनकी गरिमा को बढ़ाने वाले साल रहे हैं।

पीएम मोदी ने एनडीए सरकार के 8 साल पूरे होने पर कहा कि येह 8 साल संकल्प के रहे हैं, सिद्धियों के रहे हैं, सेवा, सुशासन, गरीब कल्याण को समर्पित रहे हैं। हमे आराम नहीं करना है। आज भी हम अधीर हैं, बेचैन हैं, आतुर हैं क्योंकि हमारा लक्ष्य भारत को उस उंचाई तक पहुंचाना है जहां का सपना देश की आजादी की लड़ाई में मर-मिटने वालों ने देखा था। आजादी के इस अमृत काल में देश बड़े लक्ष्य के लिए काम कर रहा है। हमे बहुत सी बाते याद रखनी हैं, भाजपा का कार्यकर्ता होने के नाते हमे चैन से बैठने का हक नहीं है, मैं देश के उज्जवल भविष्य को भलि-भांति देख रहा हूं। जब मैं आत्मविश्वास से भरे हुए देश के युवाओं को देखता हूं, कुछ कर गुजरने के हौसले के साथ आगे बढ़ती हुई बहन-बेटियों को देखता हूं तो मेरा आत्मविश्वास भी कई गुना बढ़ जाता है।
Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment