.....

आक्‍सर में भारत की यह फिल्म भी हुई नॉमिनेट

 नई दिल्लीः जेन कैम्पियंस वेस्टर्न की ‘द पावर ऑफ द डॉग’ 2022 के ऑस्कर नामांकन की दौड़ में सबसे आगे है. यह एक मनोवैज्ञानिक ड्रामा है. वहीं, भारत ने भी सर्वश्रेष्ठ डॉक्यूमेंट्री फीचर श्रेणी में ‘राइटिंग विद फायर’ के जरिए नामांकन पाया है.

‘द पावर ऑफ द डॉग’ की हो रही खूब चर्चा

‘द पावर ऑफ द डॉग’ निर्देशक और लेखक, दोनों की ही पहली डॉक्यूमेंट्री है. ‘द पावर ऑफ द डॉग’ के जरिए न्यूजीलैंड की कैम्पियन पहली ऐसी महिला हो गई है जिन्हें सर्वश्रेठ निर्देशन श्रेणी में दो बार नामांकन मिला है.

‘खबर लहरिया’ पर आधारित है ‘राइटिंग विद फायर’

रिंटू थॉमस के निर्देशन में बना ‘राइटिंग विद फायर’ दलित महिलाओं द्वारा संचालित समाचार पत्र ‘खबर लहरिया’ के उभरने की गाथा बयां करता है. डॉक्यूमेंट्री की कहानी सुष्मित घोष ने लिखी है. 

दलित महिलाओं के संघर्ष की कहानी

इस डॉक्यूमेंट्री फिल्म में दलित महिलाओं के एक समूह की कहानी को दर्शाया गया है. इसमें बताने की कोशिश की गई  है कि कैसे दलित महिलाएं इस अखबार को सामाजिक दायरे से जोड़े रखने के लिए प्रिंट से डिजिटल दुनिया के लिए खुद को तैयार करती हैं. इस दौरान उन्हें जाति और जेंडर जैसी कई चुनौतियां का सामना करना पड़ता है. बता दें कि आने वाली 27 मार्च को ऑस्कर विजेताओं के नामों की घोषणा की  जाएगी.

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment