.....

सांसदों, विधायकों के ट्रांसफ़र के लिए नक़ली पत्रों से क्राइम ब्रांच की नींद उड़ी

Bhopal, MP:मध्यप्रदेश के सीएम हाउस की तरफ से क्राइम ब्रांच से चौंकाने वाली शिकायत की गई है कि मंत्री, सांसदों और विधायकों के नाम पर ट्रांसफर के फर्जी लेटर मिल रहे हैं।भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर समेत 3 सांसदों और विधायक की अनुशंसा की ट्रांसफर की फर्जी नोटशीट CM हाउस तक पहुंच गई, यह जानकर क्राइम ब्रांच के अफसरों के होश उड़ गए।

संदेह होने पर संबंधित सांसदों और विधायक से बात की गई, तो मामले का खुलासा हुआ। इसके बाद CM हाउस से भोपाल क्राइम ब्रांच को शिकायत की गई। क्राइम ब्रांच ने मामले की जांच शुरू कर दी है। देर रात तक FIR दर्ज नहीं की जा सकी थी। इससे पहले उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव और नगरीय एवं प्रशासन मंत्री भूपेंद्र सिंह के नाम पर वसूली किए जाने का मामला सामने आ चुका है।



क्राइम ब्रांच के अनुसार CM हाउस से धोखाधड़ी किए जाने की शिकायत मिली है। इसमें स्वास्थ्य विभाग, स्कूल शिक्षा और राजस्व विभाग के करीब 12 कर्मचारियों के ट्रांसफर की नोटशीट भेजी गई। इसमें भोपाल सांसद प्रज्ञा, राजगढ़ सांसद रोडमल नागर, देवास सांसद महेंद्रसिंह सोलंकी और रायसेन जिले के सिलवानी विधायक रामपाल सिंह का नाम है।

मध्यप्रदेश में लगातार इस तरह के फर्जीवाड़े सामने आ रहे हैं। इसमें ट्रांसफर कराए जाने को लेकर कर्मचारी और अधिकारियों से पैसे लिए जा रहे हैं। इसी को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने दो दिन पहले सभी अधिकारियों और कर्मचारियों से आग्रह किया था कि वह इस तरह के लालच में ना आएं। न ही इस तरह से किसी मंत्री, अधिकारी या किसी अन्य के नाम पर बहकावे में आएं।इसमें शिक्षक से लेकर क्लर्क और नायब तहसीलदारों के नाम सामने आए हैं। इस पूरे फर्जीवाड़े में विभाग के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से इनकार नहीं किया जा सकता।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment