.....

कमलनाथ के उपचुनाव की तैयारियों की बैठक में दिखे सख्त तेवर

 भोपाल: जोबट, पृथ्वीपुर और रैगांव में विधानसभा और खंडवा लोकसभा के उपचुनाव को लेकर हुई बैठक में आज प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी मुकुल वासनिक और प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ के तेवर आम बैठकों की तुलना में तीखे थे। कमलनाथ ने बैठक में दो टूक कहा कि हवाबाज नेताओं से बचे, लंबी गाड़ी, लंबे काफिले से चुनाव नहीं जीते जाते। चुनाव जीतने के लिए ग्राउंड लेवल पर काम करना होगा।

मुकुल वासनिक उपचुनाव को लेकर होने वाली बैठक में शामिल होने के लिए दिल्ली से विशेष रूप से भोपाल आए हैं। कमलनाथ यहां पर पहले से ही मौजूद थे। कांग्रेस ने आज इन सभी क्षेत्रों के नेताओं से बातचीत कर  रणनीति बनाई। इससे पहले प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष कमलनाथ और प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक ने इन क्षेत्रों के प्रभारियों से चुनाव की तैयारियों को लेकर समीक्षा की। बैठक में स्थानीय नेताओं को जीत के लिए जिम्मेदारी भी सौंपे जाने का निर्णय हुआ है।

कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव एवं प्रदेश प्रभारी मुकुल वासनिक ने साफ कर दिया है कि दमोह की तर्ज पर ही कांग्रेस बाकी के उपचुनाव लड़ेगी। दमोह में जो गलतियां हुई उससे सीखते हुए इन उपचुनावों में गलतियों से बचने का प्रयास होगा। उन्होंने बैठक में साफ कर दिया कि पार्टी का काम नहीं करने वाले पदाधिकारियों पर संगठन की नजर रहेगी।



उपचुनाव को लेकर कांग्रेस की इस बैठक को बहुत ही अहम माना जा रहा है। वासनिक और कमलनाथ ने अलीराजपुर, टीकमगढ़, निवाडी, सतना के साथ ही खंडवा, बुरहानपुर, खरगौन के जिला अध्यक्षों और विधानसभा क्षेत्र में आने वाले पदाधिकारियों के साथ ही इन क्षेत्रों के प्रभारियों को बैठक के लिए बुलाया था। इसमें दावेदारों को भी बुलाया गया था। जिसमें पृथ्वीपुर से दावेदार माने जा रहे नितेंद्र राठौर शामिल हुए। वहीं पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश पचौरी और कांतिलाल भूरिया भी बैठक में शामिल रहे।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment