.....

ग्वालियर एवं ओरछा का विकास ऐतिहासिक व सांस्कृतिक स्वरूप निखारते हुए होगा

 मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि तेजी से विकसित हो रहे ऐतिहासिक नगरों की संस्कृति एवं विरासत को संरक्षित करते हुए वहां के समावेशी एवं सुनियोजित विकास के लिीए यूनेस्को की “हिस्टोरिक अर्बन लैण्डस्केप” परियोजना, जिसका प्रारंभ वर्ष 2011 में किया गया था, अत्यंत महत्वपूर्ण है।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि यूनेस्को द्वारा इस परियोजना में ग्वालियर एवं ओरछा नगरों का चयन किया गया है तथा इनका यूनेस्को, भारत सरकार तथा मध्यप्रदेश सरकार द्वारा सम्मिलित रूप से ऐतिहासिक व सांस्कृतिक स्वरूप निखारते हुए विकास किया जाएगा।



मुख्यमंत्री चौहान ने मंत्रालय में वी.सी. के माध्यम से प्रदेश के ग्वालियर एवं ओरछा नगरों के लिए यूनेस्को की “हिस्टोरिक अर्बन लैण्डस्केप” परियोजना का शुभारंभ किया। इस अवसर पर पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री उषा ठाकुर, प्रमुख सचिव शिवशेखर शुक्ला आदि उपस्थित थे। नई दिल्ली से यूनेस्को के एरिक फाल्ट, जुन्ही हॉन, नेहा देवान, निशांत उपाध्याय तथा यू.एस. से रैण्ड एपिच वी.सी.के. माध्यम से सम्मिलित हुए।


Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment