.....

Tulsi का पौधा घर में लगाना बेहद शुभ रखें इन बातों का ध्यान, वरना होगा आर्थिक नुकसान

 


हिंदू धर्म में तुलसी के पौधे का विशेष महत्व है और यही कारण है कि ज्यादातर हिंदू घर में आपको तुलसी का पौधा  जरूर मिलेगा. इसका कारण ये है कि घर में तुलसी का पौधा लगाना बेहद शुभ माना जाता है और तुलसी के पौधे में वे तमाम गुण पाए जाते हैं जो कई तरह की (Negative Energy) कोनकारात्मक ऊर्जा  को दूर करने में मदद करते हैं. लेकिन अगर तुलसी के पौधे को गलत दिशा  में लगा दिया जाए या फिर इसके रख रखाव में लापरवाही की जाए तो इसका बुरा प्रभाव  भी आपके जीवन पर देखने को मिल सकता है.


तुलसी का हरा-भरा पौधा धन वृद्धि और सौभाग्य का सूचक माना जाता है लेकिन अगर आप गलत दिशा में तुलसी का पौधा लगा दें तो आपका यही सौभाग्य दुर्भाग्य में बदल सकता है. घर की दक्षिण दिशा (South) को शुभ नहीं माना जाता इसलिए इस दिशा में भूलकर भी तुलसी का पौधा न लगाएं. ऐसा करने से आपके जीवन में आर्थिक नुकसान हो सकता है, घर में पैसों की कमी बनी रहती है, परिवार के सदस्यों के बीच लड़ाई-झगड़े होते हैं और सुख शांति चली जाती है.

तुलसी  के पौधे को हमेशा उत्तर दिशा (North) में ही लगाएं क्योंकि यह बुध की दिशा मानी जाती है. इसके अलावा उत्तर-पूर्व (North East) दिशा को धन के देवता कुबेर की दिशा माना जाता है और इसलिए घर की आर्थिक स्थिति में सुधार करने के लिए आप इस दिशा में बी तुलसी का पौधा लगा सकते हैं. इसके अलावा अगर घर में वास्तु संबंधी कोई दोष (Vastu Dosh) हो तो तुलसी के पौधे को दक्षिण-पूर्व दिशा (South East) में लगा सकते हैं लेकिन भूल से भी दक्षिण दिशा में तुलसी का पौधा न लगाएं.

एकादशी के दिन, रविवार को और मंगलवार को तुलसी के पौधे से पत्ते नहीं तोड़ने चाहिए. साथ ही सूर्यास्त के बाद भी तुलसी का पत्ता नहीं तोड़ना चाहिए.

यदि तुलसी का पौधा सूख जाए तो उसे नदि या पास के कुएं में डाल देना चाहिए या फिर गमले की मिट्टी में ही दबा देना चाहिए.

जो लोग घर में मांसाहार का सेवन करते हों उन्हें भी घर में तुलसी का पौधा नहीं लगाना चाहिए.

तुलसी को कभी भी जमीन में नहीं लगाना चाहिए, उसे हमेशा गमले में लगाना चाहिए. जमीन में लगे तुलसी के पौधे की वजह से परिवार के सदस्यों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है.

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment