कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष चुनाव को लेकर मची खींचतान

 सोनिया के साथ कमलनाथ तो दिग्विजय-अरुण को राहुल पसंद, हवा ऐसी की पक्ष और विपक्ष का जमीनी कार्यकर्ता भी कहा रहा है “गाँधी” सोनिया-राहुल पर एमपी कांग्रेस में तनातनी जैसा माहौल, सोशल मीडिया हलचल कहती है की कांग्रेस में नेतृत्व को लेकर गहराया विवाद का असर मध्यप्रदेश में भी खुलकर सामने आ गया है प्रदेश के नेता सोनिया और राहुल गांधी के नाम पर दो हिस्सों में बंट गए हैं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने गांधी परिवार से अपने संबंधों केंद्र की राजनीति का अनुभव बताते हुए सोनिया गांधी को ही अध्यक्ष बनाने की मांग की है वहीं पूर्व मुख्यमंत्री व राजसभा सांसद दिग्विजय सिंह सहित प्रदेश के अधिकांश युवा नेता राहुल गांधी के साथ खड़े नजर आ रहे हैं दिल्ली में सीडब्ल्यूसी की बैठक होते ही दिल्ली से भोपाल तक कांग्रेस के अध्यक्ष को लेकर जंग छिड़ गई है प्रदेश के सभी नेताओं ने सोशल मीडिया का सहारा लेते हुए अध्यक्ष पद के लिए अपनी अपनी पसंद खुल कर बता रहे है कि प्रदेश के अधिकांश विधायक सांसद और नेता राष्ट्रीय अध्यक्ष के तौर पर गांधी परिवार से खुद को अलग नहीं कर सके है।

उमा भारती ने कांग्रेस को दिया सुझाव

बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती बीजेपी कार्यालय पहुंची

कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव को लेकर मची खींचतान पर उन्होंने कहा गांधी नेहरू परिवार का अस्तित्व, राजनैतिक वर्चस्व समाप्त हो गया है, अब यह कौन पद पर रहते हैं नहीं रहते, इसका महत्व खत्म हो गया है, इनकी नवाबी चली गई। कांग्रेस को अब गांधी की और वापस लौटना चाहिए, कांग्रेस का पुराना व्यक्ति जो गांधीवादी सोच का हो वह कांग्रेस का नेतृत्व करें। उमा भारती ने कांग्रेस को दिया सुझाव देते हुए कहा – कांग्रेस को अब असली गांधी, स्वदेशी गांधी की ओर वापस लौटे, जिसमें विदेशी और कोई एलिमेंट नहीं था, गांधी परिवार से मुक्ति पाओ। स्वदेशी गांधी की ओर मुड़ो। हमारा देश परिवारवाद की राजनीति से मुक्त हो, भारतीयों को अगर गर्व करना है तो भारत की महिलाओं पर गर्व करें।

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment