प्रधानमंत्री मोदी ने तीन घंटे चर्चा की


नई दिल्ली। ! प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी बात कहते हैं, दूसरों को सुनते और उनकी राय लेते हैं, नीतियां बनाना या जवाब देने का वक्त अपने हिसाब से तय करते हैं। राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चौथी बार की चर्चा में भी यही हुआ। 3 घंटे की चर्चा में प्रधानमंत्री बोले, पारी के हिसाब से 9 मुख्यमंत्री बोले, राज्यों ने अपनी मांग, चिंता रखी और प्रधानमंत्री ने सबको ध्यान से सुना।


प्रधानमंत्री ने आर्थिक चिंता न करने का आश्वासन दिया। कोविड-19 संक्रमण के दौरान लाइफ स्टाइल में आने वाले बदलाव पर बात की। उन्होंने कोविड-19 संक्रमण रोकने में सक्रियता के लिए राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के प्रयास की तारीफ की और नीतीश कुमार, नवीन पटनायक का नाम लिया, रेफरेंस दिया।
लॉकडाउन के दूसरे चरण का आखिरी दौर है, लेकिन इसके बाद लॉकडाउन इसी तरह जारी रहेगा या कुछ बदलाव होगा, इसका सीधा कोई जवाब अभी इस बैठक से नहीं निकला, लेकिन इतना संकेत जरूर मिलता है कि तीन मई के बाद लॉकडाउन पूरी तरह नहीं खुलेगा, बल्कि कुछ इलाकों और क्षेत्रों में सीमित छूट के साथ कुछ राहत जरूर मिल सकती है।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment