भारत के "आरोग्य सेतु" एप को विश्व बैंक ने सराहा


भोपालप्रधानमंत्री ने देश के नाम दिये संदेश में लोगों से आरोग्य सेतु एप अपनाने की पुन: अपील की है। यह एप लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे और जोखिम का आंकलन करने में मदद करता है।


देश में 2 करोड़ से अधिक लोग इस एप को डाउनलोड कर चुके हैं। आरोग्य सेतु एप एंड्रायड और आईफोन दोनों फोन पर डाउनलोड किया जा सकता है। अंग्रेजी और हिन्दी समेत 11 भारतीय भाषाओं में उपलब्ध एप हरे और पीले रंग के कोड में आपके जोखिम के स्तर को बताता है और सुझाव देता है कि आपको कोरोना वायरस से बचने के लिये क्या करना चाहिए। विश्व बैंक ने भी भारत के इस एप की प्रशंसा की है।
'आरोग्य सेतु' एप डाउनलोड करने का तरीका
आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करने के लिये गूगल प्ले पर जाकर AarogyaSetu टाइप करें। आरोग्य और सेतु के बीच स्पेस नहीं दें। अपनी भाषा चुनने के बाद 'रजिस्टर्ड नाउ' बटन पर टेप करें। ब्लूटूथ और जीपीएस ऑन करने के बाद एप को काम करने के लिये इसकी अनुमति दें। आरोग्य सेतु कांट्रेक्ट ट्रेसिंग के लिये मोबाईल नम्बर, ब्लूटूथ और लोकेशन डेटा का उपयोग करता है और बताता है कि आप कोरोना के जोखिम के दायरे में आ रहे है या नहीं। अपना मोबाईल नम्बर रजिस्टर्ड करने पर एप काम करने लगेगा। इसके बाद वैकल्पिक फार्म खुलने पर उसमें नाम, आयु, व्यवसाय और पिछले तीस दिनों में की गई विदेश यात्रा की जानकारी सबमिट करनी होती है। इस फार्म को स्किप किया जा सकता है। अगर कोई स्वयं सेवक बनना चाहता है, तो उसके पास खुद को इसमें नामांकित करने का विकल्प भी है।

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment