नई दिल्ली ! मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने विधायकों को लालच देकर खरीदे जाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, बीजेपी अभी विपक्ष में है. शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा, जिन्होंने 15 साल तक राज्य को लूटा वे अब विपक्ष में बैठने के लिए तैयार नहीं हैं और खुलेआम कांग्रेस पार्टी के विधायकों को 25-35 करोड़ का लालच दे रहे हैं. उन्होंने कहा, मैं उन्हें सचेत करना चाहता हूं कि यह कर्नाटक नहीं है. मध्य प्रदेश में एक भी विधायक बिकाऊ नहीं है. digvijay दिग्विजय सिंह ने कहा, शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा दोनों में पहले विवाद था कि मुख्यमंत्री कौन बनेगा, लेकिन अब दोनों में यह तय हुआ है कि एक मुख्यमंत्री और दूसरा उपमुख्यमंत्री बनेगा, इसलिए दोनों मिलकर विधायकों को अप्रोच कर रहे हैं, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जनता के सामने इन सबको खड़ा किया जाएगा. मैं यही कहूंगा कि वे अपनी हरकतों से बाज आएं और 5 साल विपक्ष में बैठें. अब तक 10 विधायकों को ऑफर दिग्विजय ने कहा, इस तरह के ऑफर कांग्रेस विधायकों को दिए जाते हैं तो क्या हमारे पास खबरें नहीं आएंगी. अभी लगभग 10 विधायकों के पास ये ऑफर आए हैं, जिसकी जानकारी वे हमें देते हैं. वहीं, नागरिकता संशोधन कानून पर उन्होंने कहा कि जो संशोधन लाया गया है, उसकी जरूरत नहीं थी. नागरिकता देने का अधिकार केंद्र सरकार के पास है, यह कानून हिंदू और मुसलमान को बांटने के लिए लाया गया है. उन्होंने कहा कि खुद गृह मंत्री एनपीआर को एनआरसी से जोड़कर देखते हैं और इसी बात से लोगों में अविश्वास की स्थिति बनी हुई है.


नई दिल्ली ! मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने विधायकों को लालच देकर खरीदे जाने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा, बीजेपी अभी विपक्ष में है. शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा, जिन्होंने 15 साल तक राज्य को लूटा वे अब विपक्ष में बैठने के लिए तैयार नहीं हैं और खुलेआम कांग्रेस पार्टी के विधायकों को 25-35 करोड़ का लालच दे रहे हैं. उन्होंने कहा, मैं उन्हें सचेत करना चाहता हूं कि यह कर्नाटक नहीं है. मध्य प्रदेश में एक भी विधायक बिकाऊ नहीं है.


दिग्विजय सिंह ने कहा, शिवराज सिंह चौहान और नरोत्तम मिश्रा दोनों में पहले विवाद था कि मुख्यमंत्री कौन बनेगा, लेकिन अब दोनों में यह तय हुआ है कि एक मुख्यमंत्री और दूसरा उपमुख्यमंत्री बनेगा, इसलिए दोनों मिलकर विधायकों को अप्रोच कर रहे हैं, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. जनता के सामने इन सबको खड़ा किया जाएगा. मैं यही कहूंगा कि वे अपनी हरकतों से बाज आएं और 5 साल विपक्ष में बैठें.
अब तक 10 विधायकों को ऑफर
दिग्विजय ने कहा, इस तरह के ऑफर कांग्रेस विधायकों को दिए जाते हैं तो क्या हमारे पास खबरें नहीं आएंगी. अभी लगभग 10 विधायकों के पास ये ऑफर आए हैं, जिसकी जानकारी वे हमें देते हैं.
वहीं, नागरिकता संशोधन कानून पर उन्होंने कहा कि जो संशोधन लाया गया है, उसकी जरूरत नहीं थी. नागरिकता देने का अधिकार केंद्र सरकार के पास है, यह कानून हिंदू और मुसलमान को बांटने के लिए लाया गया है. उन्होंने कहा कि खुद गृह मंत्री एनपीआर को एनआरसी से जोड़कर देखते हैं और इसी बात से लोगों में अविश्वास की स्थिति बनी हुई है.

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment