संसद में महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन पर रिपोर्ट पेश करेंगे अमित शाह



नई दिल्ली ! महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन पर राज्यसभा में केंद्र सरकार रिपोर्ट पेश करेगी. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह राज्यसभा में राष्ट्रपति शासन से संबंधित रिपोर्ट पेश करेंगे. महाराष्ट्र में किसी भी दल द्वारा सरकार न बना पाने की स्थिति में राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने राष्ट्रपति शासन की अनुशंसा की थी, जिसके बाद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की मंजूरी से वहां राष्ट्रपति शासन लग गया था.
सरकार गठन पर अभी भी सस्पेंस
महाराष्ट्र में सरकार बनाने को लेकर सस्पेंस खत्म होता नजर नहीं आ रहा है. कांग्रेस और एनसीपी की मंगलवार को होने वाली बैठक बुधवार के लिए टल गई. अब ये मीटिंग बुधवार रखी गई है. इस बीच एनसीपी चीफ शरद पवार ने कह दिया कि जिनको सरकार बनानी है उनसे पूछो.
दिसंबर की शुरुआत में बनेगी सरकार
शरद पवार के बयान पर शिवसेना के राज्यसभा सांसद संजय राउत ने कहा कि पवार क्या कहते हैं, इसे समझने के लिए 100 बार जन्म लेना पड़ेगा. राउत ने कहा कि आपको पवार और हमारे गठबंधन को लेकर चिंता करने की जरूरत नहीं है. बहुत जल्द, दिसंबर की शुरुआत में, एक शिवसेना नीत गठबंधन सरकार महाराष्ट्र में सत्ता में होगी. यह एक स्थिर सरकार होगी.
शिवसेना ने 22 नवंबर को बुलाई बैठक
इस बीच शिवसेना ने दिसंबर की डेडलाइन दे दी है, जबकि उद्धव ठाकरे ने 22 नवंबर को अपने विधायकों की बैठक बुलाई है. सावरकर को भारत रत्न देने पर संजय राउत ने कहा कि शिवसेना हमेशा से सावरकर को भारत रत्न दिए जाने का समर्थन करती आई है.
कांग्रेसी नेताओं के साथ सोनिया की बैठक
कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने महाराष्ट्र में सरकार गठन को लेकर जारी गतिरोध पर मंगलवार को पार्टी के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल, एके एंटनी और मल्लिकार्जुन खड़गे के साथ बैठक की.
सीएम पद के लिए बीजेपी और शिवसेना में ठनी
महाराष्ट्र का विधानसभा चुनाव बीजेपी-शिवसेना ने गठबंधन के तहत लड़ा था, जबकि कांग्रेस-एनसीपी ने अलग गठबंधन के तहत यह चुनाव लड़ा था. 288 सदस्यीय विधानसभा में बीजेपी 105 सीट जीतकर सबसे बड़ी पार्टी बनी, जबकि शिवसेना 56 सीटें जीत पाई. शिवसेना और बीजेपी में मुख्यमंत्री पद को लेकर ठन गई. इसके बाद सरकार नहीं बना पाई.

Share on Google Plus

click vishvas shukla

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment