.....

CG : मंतूराम के बयान के बाद कांग्रेस का रमन, मूणत और जोगी पर निशाना

रायपुर : भाजपा नेता मंतूराम पवार के कोर्ट में बयान के बाद कांग्रेस ने पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी, पूर्व मंत्री राजेश मूणत और पूर्व विधायक अमित जोगी से मांग की है कि वे नैतिकता के आधार पर राजनीति छोड़ दें।
कांग्रेस नेताओं ने दूसरी मांग यह की है कि अंतागढ़ मामले में दोषी अधिकारियों और बिचौलियों की भूमिका की जांच की जाए। सत्तास्र्ढ़ दल के नेताओं ने अब यह भी कहा है कि मंतूराम के बयान से स्पष्ट हो गया है, झीरम कांड में भी रमन सरकार की भूमिका थी।
रविवार को कांग्रेस के प्रभारी प्रदेश महामंत्री गिरिश देवांगन और संचार विभाग के अध्यक्ष शैलेश नितिन त्रिवेदी ने पत्रकार वार्ता ली। देवांगन ने कहा कि छह वर्ष पहले जब अंतागढ़ उपचुनाव के कांग्रेस प्रत्याशी ने अपना नाम वापस लिया था, तभी तत्कालीन पीसीसी अध्यक्ष भूपेश बघेल ने कहा था कि लेनदेन, भ्रष्टाचार और लोकतंत्र की हत्या हुई है।
शक्तिशाली लोगों के शामिल होने की बात कही थी। प्रदेश कांग्रेस ने दिल्ली के जंतर-मंतर में धरना दिया था और चुनाव आयोग से उच्च स्तरीय जांच की मांग की थी। अब मंतूराम के बयान से स्पष्ट हो गया है कि बघेल और कांग्रेस ने जो आशंका जताई थी, वह शत-प्रतिशत सही थी।
त्रिवेदी ने कहा कि मंतूराम के बयान से साफ हो गया है कि उन्हें खरीदने का षड्यंत्र रमन सिंह, राजेश मूणत, अजीत जोगी और उनके पुत्र अमित ने रचा था। रमन ने जोगी के साथ मिलकर कांग्रेस प्रत्याशी को मैदान से हटाने के लिए सारे हथकंडे अपनाते हुए सत्ता का दुस्र्पयोग किया। मंतूराम ने अपने बयान में कहा है, उन्हें तत्कालीन एसपी ने धमकाया था कि उनका झीरम कांड की तरह हश्र कर दिया जाएगा।
इस पर त्रिवेदी का कहना है कि झीरम कांड में भी रमन सरकार की भूमिका थी, तभी तो तत्कालीन एसपी ने धमकी दी। त्रिवेदी ने कहा कि अभी तो रमन के दामाद डॉ. पुनित गुप्ता की भूमिका सामने आनी है, क्योंकि ऑडियो टेप में उनकी भी आवाज है। त्रिवेदी बोले-रमन सरकार में पुलिस ने इस मामले में कोई जांच नहीं की। अब कांग्रेस सरकार जांच करा रही है, तो दूध का दूध और पानी का पानी हो रहा है।
 रमन, जोगी, मूणत और अमित बेकसूर हैं, तो चारों जांच में सहयोग करें। रमन को अपने दामाद डॉ. गुप्ता को वॉइस सैम्पल देने के लिए कहना चाहिए। वॉइस सैम्पल में चल रहा हील-हवाला अब बंद होना चाहिए। जोगी और उनके पुत्र अमित को भी तत्काल अपना वॉइस सैम्पल देना चाहिए।
 सौदेबाजी के लिए मूणत के पास सात करोड़ कहां से आए, इसकी ईडी और आयकर विभाग जांच करे।
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ट्वीट किया है, अंतागढ़ चुनाव धांधली के बारे में हमारे आरोप सही साबित हुए। लोकतंत्र की हत्या का षड्यंत्र हमारी आशंका से ज्यादा गहरा निकला। मैं इसे राजनीति मानने से इंकार करता हूं और इन सभी षड्यंत्रकारियों को राजनेता कहना ठीक नहीं समझता।
पत्रकार वार्ता में कांग्रेस के प्रदेश महामंत्री देवांगन ने कहा कि मंतूराम भाजपा के प्राथमिक सदस्य हैं। अभी उन्होंने कांग्रेस में वापसी के लिए आवेदन नहीं दिया है। अगर आवेदन देते हैं तो उस पर कांग्रेस संगठन विचार करेगा।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment