.....

कांग्रेस नए सिरे से शुरू करेगी सदस्यता अभियान, छग में 12 लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य

रायपुर : प्रदेश कांग्रेस (Congress) शून्य सदस्य मानकर सदस्यता अभियान को शुरू करेगी। छत्तीसगढ़ में 12 लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य रखा गया है। पार्टी के आला-नेताओं का कहना है कि सदस्यता अभियान को शुरू करने में एक माह लग सकता है, लेकिन गुरुवार को पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी सदस्यता अभियान के कार्यक्रम को लेकर रूपरेखा तैयार करेंगी। सभी राज्यों में सदस्यता अभियान को लेकर चर्चा होगी। बैठक में मिले दिशा-निर्देशों के आधार पर छत्तीसगढ़ में सदस्यता अभियान चलाया जाएगा।
वर्तमान में प्रदेश कांग्रेस के लगभग सवा छह लाख सदस्य हैं, लेकिन जब सदस्यता अभियान शुरू होगा, तो पुराने सदस्यों को फिर से रसीद कटानी होगी। मतलब, उनकी सदस्यता का नवीनीकरण होगा। लगभग छह लाख नए सदस्य बनाए जाएंगे। 
कांग्रेस सत्तारुढ़ दल है, इसलिए पार्टी के आला-नेता सदस्यता अभियान को लेकर अभी से उत्साहित हैं। इस कारण तो सदस्यता का लक्ष्य सीधे दोगुना कर दिया गया है। आला-नेताओं का मानना है कि सत्तारुढ़ दल का सदस्य हर कोई बनना चाहेगा। ऐसे में लक्ष्य को प्राप्त करना कठिन नहीं होगा।
सदस्यता अभियान कब से शुरू होगा, कब तक चलेगा, सदस्यों की सूची कब तक फाइनल करनी होगी, सदस्यता अभियान से कितनी राशि प्राप्त हुई, यह सब जानकारी कब तक अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी को भेजनी होगी, इसे लेकर गुरुवार को दिल्ली में सोनिया गांधी बैठक लेंगे। उन्होंने सभी राज्यों के अध्यक्षों और पार्टी के विधायक दल के नेता की बैठक बुलाई है। विधायक दल का नेता होने के नाते मुख्यमंत्री भूपेश बघेल(Bhupesh Baghel) बुधवार शाम को दिल्ली रवाना होंगे।
 पीसीसी अध्यक्ष मोहन मरकाम को भी दिल्ली जाना है, लेकिन वे दंतेवाड़ा उपचुनाव में व्यस्त हैं। इस कारण अब तक उनका दिल्ली जाना मुश्किल लग रहा है। दिल्ली से लौटने के बाद मुख्यमंत्री बघेल यहां प्रदेश पदाधिकारियों और जिलाध्यक्षों की बैठक लेंगे। उन्हें सदस्यता अभियान की न केवल जानकारी देंगे, बल्कि अभियान को सफल बनाने के लिए उत्साह भी भरने की कोशिश करेंगे।
गुरुवार को मुख्यमंत्री बघेल सोनिया गांधी से दंतेवाड़ा उपचुनाव की रणनीति पर बात करेंगे। उन्हें बताएंगे कि किस तरह से सरकार की उपलब्धियां बताकर चुनावी अभियान चलाया जा रहा है। सोनिया गांधी से अपील करेंगे कि वे, राहुल गांधी और प्रियंका गांधी समेत दूसरे राष्ट्रीय स्तर के नेता दंतेवाड़ा में चुनावी सभा और रैली करने आएं।
एआइसीसी(AICC) से हर राज्य को स्टेट कोड मिलेगा। उस कोड के साथ रसीद प्रिंट करानी होगी। सदस्य बनाने पर पांच रुपये लेकर उसी रसीद को काटकर देना होगा। प्रदेश कांग्रेस 12 लाख सदस्य बनाती है, तो सदस्यता अभियान से 60 लाख रुपये आ जाएंगे। इसका पूरा हिसाब न केवल एआइसीसी(AICC), बल्कि चुनाव आयोग भी देना होता है।
पीसीसी से सदस्यता बुक जिला कमेटियों को भेजी जाती है। जिला कमेटी के माध्यम से रसीद बुक पार्टी के पदाधिकारियों और सदस्यों को दी जाती है। सदस्यता अभियान में मंत्री, पार्टी के विधायक, सांसद, पूर्व विधायक, पूर्व सांसदों और दूसरे जनप्रतिनिधियों को भी सदस्य बनाने की जिम्मेदारी मिलेगी।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment