सर्वसम्मति से NDA संसदीय दल के नेता चुने गए नरेंद्र मोदी

नई दिल्ली : संसद के सेन्ट्रल हॉल में शनिवार शाम को नरेंद्र मोदी को विधिवत बीजेपी और एनडीए के संसदीय दल का नेता चुना गया। तालियों की गड़गड़ाहट और मोदी-मोदी के नारों के बीच सबसे पहले नरेंद्र मोदी को बीजेपी संसदीय दल का नेता चुना गया, उसके बाद एनडीए का नेता चुना गया। 

बीजेपी और एनडीए के संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद नरेंद्र मोदी ने लालकृष्ण आडवाणी का पैर छूकर आशीर्वाद लिया। शाम 5 बजे से पहले ही बीजेपी के सभी नवनिर्वाचित सांसद, बड़े नेता और एनडीए के नेता सेन्ट्रल हॉल में मौजूद थे। शाम करीब साढ़े 5 बजे नरेंद्र मोदी सेन्ट्रल हॉल पहुंचे। सीढ़ियों पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और राजनाथ सिंह ने उनकी अगवानी की और गुलदस्ता देकर स्वागत किया।

 मोदी के आने के बाद वंदेमातरम की धुन के साथ बीजेपी संसदीय दल की औपचारिक बैठक की शुरुआत हुई। राष्ट्रगीत के बाद बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने बीजेपी संसदीय दल के नेता के लिए नरेंद्र मोदी के नाम का प्रस्ताव रखा, जिसका सभी सदस्यों ने तालियों से इसका स्वागत किया। 

प्रस्ताव का बीजेपी के पूर्व अध्यक्षों राजनाथ सिंह और नितिन गडकरी ने अनुमोदन किया। उसके बाद बीजेपी के सभी नवनिर्वाचित संसद सदस्यों ने हाथ उठाकर मोदी-मोदी के नारों के साथ प्रस्ताव का समर्थन किया। इसके साथ ही बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने सर्वसम्मति से नरेंद्र मोदी को बीजेपी संसदीय दल का नेता चुने जाने का ऐलान किया। 

बीजेपी के संसदीय दल का नेता चुने जाने के बाद नरेंद्र मोदी को एनडीए संसदीय दल का नेता चुना गया। सबसे पहले शिरोमणि अकाली दल के संस्थापक प्रकाश सिंह बादल ने बीजेपी संसदीय दल के फैसले का समर्थन करते हुए मोदी को एनडीए संसदीय दल का नेता चुने जाने का प्रस्ताव पेश किया। 

प्रस्ताव का जेडीयू के नीतीश कुमार, शिवसेना के उद्धव ठाकरे, एलजेपी के रामविलास पासवान, AIADMK की तरफ से ई. पलनिसामी, नगालैंड के मुख्यमंत्री नेफ्यू रियो और एनपीपी के के. संगमा ने समर्थन किया। अपना दल और झारखंड स्टूडेंट यूनियन समेत एनडीए के बाकी सभी घटक दलों के नेताओं ने पत्र लिखकर प्रस्ताव का समर्थन किया। इसके बाद हॉल में मौजूद सभी लोगों ने खड़े होकर तालियों की गड़गड़ाहट के बीच पीएम पद के लिए नरेंद्र मोदी के नाम का समर्थन किया। 

बाद में अमित शाह ने मोदी-मोदी के नारों के बीच नरेंद्र मोदी को सर्वसम्मति से एनडीए का नेता चुने जाने का ऐलान किया। शाह ने कहा कि 353 संसद सदस्यों के नेता के रूप में नरेंद्र मोदी चुने गए हैं। 

बीजेपी संसदीय दल और एनडीए का नेता चुने जाने के बाद नरेंद्र मोदी का अमित शाह ने गुलदस्ता देकर और पटका पहनाकर स्वागत किया। उसके बाद बीजेपी के दिग्गज लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी और मंच पर विराजमान सभी एनडीए नेताओं ने भी उनको गुलदस्ता भेंट कर स्वागत किया। खास बात यह थी कि नरेंद्र मोदी ने पैर छूकर आडवाणी का आशीर्वाद लिया। वह जोशी से गर्मजोशी से गले मिले। 

संसद का सेन्ट्रल हॉल बीजेपी संसदीय दल की बैठक के लिए सजा हुआ था। मंच पर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह, राजनाथ सिंह, लालकृष्ण आडवाणी, मुरली मनोहर जोशी, नितिन गडकरी और सुषमा स्वराज मौजूद थे। एनडीए की तरफ से मंच पर अकाली दल के संस्थापक प्रकाश सिंह बादल, जेडीयू चीफ और बिहार के सीएम नीतीश कुमार, एलजेपी चीफ राम विलास पासवान, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और AIADMK की तरफ से तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ई. पलनिसामी मौजूद थे। 

सेन्ट्रल हॉल में बीजेपी के सभी नवनिर्वाचित 303 सांसदों के अलावा यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ समेत एनडीए शासित राज्यों के मुख्यमंत्री, उप मुख्यमंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री भी मौजूद थे। 
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment