मलेशिया ने चीन की अरबों की परियोजनाएं रद्द कर कहा- नहीं चाहिए कर्ज

पुत्रजय:  मलेशिया के प्रधानमंत्री महातिर ने कहा कि वह अपने पूर्ववर्ती द्वारा चीन के साथ किए गए अरबों डॉलर के अवसंरचना परियोजना समझौतों को रद्द करने की कोशिश करेंगे क्योंकि उनकी सरकार देश को कर्ज से बाहर निकालने के लिए काम कर रही है. 
उन्होंने रोहिंग्या मुसलमानों के साथ बर्ताव को लेकर म्यांमा की आलोचना की और उसके रवैये को अत्यंत अन्यायपूर्ण करार दिया. 
महातिर (93) ने तीन महीने पहले सत्ता में वापसी के बाद अपनी पहली यात्रा पर चीन रवाना होने से कुछ दिन पहले एसोसिएटेड प्रेस के साथ साक्षात्कार के दौरान ये टिप्पणियां कीं. 
उन्होंने कहा कि वह चीन के साथ अच्छे संबंध रखना चाहते हैं और उसके निवेश का स्वागत करते हैं क्योंकि परियोजनाएं मलेशिया को लाभ पहुंचाती हैं.
 उन्होंने चीन समर्थित गैस पाइपलाइन तथा मलेशिया के पूर्वी तट के किनारे रेल परियोजना को लेकर कड़ा रुख अपनाया.
 ये दोनों समझौते पूर्व प्रधानमंत्री नजीब रजाक ने किए थे जो 1मलेशिया डेवलपमेंट बेरहद (1एम बी डी) घोटाले में अरबों डॉलर हड़पने के मामले में विभिन्न आरोपों का सामना कर रहे हैं. महातिर ने पुत्रजय प्रशासनिक केंद्र स्थित अपने कार्यालय से कहा,हमें नहीं लगता कि हमें उन दो परियोजनाओं की जरूरत है.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment