.....

कानपुर में बिल्डर के घर से 96 करोड 62 लाख के पुराने नोट बरामद, 16 लोग गिरफ्तार

कानपुर:  एनआईए और उत्तर प्रदेश पुलिस ने संयुक्त रूप से छापा मार कर कानपुर से 96 करोड 62 लाख के पुराने नोट जब्त किए हैं. 

पुलिस ने इस मामले में अभी तक 16 लोगों को गिरफ्तार किया है. इस खेल के तार दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद समेत विदेशों से भी जुड़ रहे हैं.

इस मामले में हैदराबाद के कोटेश्वर राव, कानपुर के बिल्डर व कपड़ा कारोबारी आनंद खत्री और संतोष यादव, वाराणसी में रेल विभाग के इंजीनियर संजय राय को गिरफ्तार किया गया है. 

एनआईए का कहना है कि हमने इनपुट मिलने के बाद यूपी पुलिस को आगाह किया था. एनआईए इस रेड में शामिल नहीं है लेकिन नजर बनाये हुए है.

एक पुलिस अधिकारी ने बताया, "कानपुर पुलिस को एक बंद घर में बड़ी मात्रा में पुराने नोटों के होने के बारे में पता चला था. 

पहले 80 करोड़ कीमत के नोट बरामद हुए और अब ये आंकडा 96 करोड 62 लाख तक पहुंच चुका है. पुलिस जांट में जुटी हुई है.

पुलिस अधिकारी ने बताया कि भारतीय रिजर्व बैंक के अधिकारियों और आयकर विभाग का दल शीघ्र ही जब्त की गयी राशि की सटीक जानकारी देंगे. पुलिस ने ये भी बताया कि गिरफ्तार किए गए एक शख्स का रिश्तेदार RBI में काम करता है.

पुलिस सूत्रों ने बताया, हम इस मामले में सरकारी अधिकारयों के शामिल होने की दिशा में भी जांच कर रहे हैं. अधिकारी ने बताया कि यह छापेमारी कानपुर के सीसामऊ इलाके में की गयी और स्वरूप नगर पाकेट के एक होटल से कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया.

पुलिस महानिरीक्षक (कानपुर क्षेत्र) आलोक सिंह इस मामले की निगरानी कर रहे हैं. दरअसल एनआईए को जानकारी मिली थी कि यूपी में कानपुर समेत कई जिलों में मनीचेंजर गैंग सक्रिय हैं, जो औने-पौने दाम पर पुरानी करेंसी को नई करेंसी में बदल रहे हैं.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment