प्रवासी भारतीय एमपी के विकास में योगदान देना चाहते हैं : CM शिवराज सिंह

भोपाल : मुख्‍य‍मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रवासी भारतीय भारत के विकास में योगदान देना चाहते हैं।
 प्रवासी भारतीयों ने अपने अपने राज्‍य का गौरव बढ़ाया है। सात दिवसीय अमेरिका यात्रा से स्‍वदेश लौटने के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए सीएम ने यह बात कही।
शिवराज ने बताया कि इंदौर और रतलाम के नमकीन के निर्यात की मांग अमेरिका में की गई है। उन्‍होंने फ्रेंड्रस ऑफ एमपी समूह की सराहना करते हुए बताया कि चार और पांच जनवरी को इंदौर में फ्रेंड्रस ऑफ एमपी की बैठक आयोजित की जाएगी। फ्रेंड्स ऑफ एमपी की लोगों को जोड़ने में अहम भूमिका है।
सीएम ने बताया कि अब इंदौर में आरंभ होंगे थेलेसीमिया के ऑपरेशन । इसके लिए योजना बनाई गई है। अमेरिका के डॉक्‍टरों ने हमेंं सहयोग का भरोसा दिलाया है। 
उन्‍होंने कहा कि भारत का दर्शन एकात्‍म मानववाद का दर्शन है इसे दुनिया ने भी माना है। एकात्‍म मानववाद की आज प्रासंगिकता है ।
सीएम के अनुसार विकास और विश्‍वशांति की दृष्टि से भारत व अमेरिका के संबंध महत्‍वपूर्ण हैं। प्रवासी भारतीयों का अमेरिका में बड़ा आदर है।
 ट्रंप प्रशासन भी भारत से प्रगाढ़ मित्रता का पक्षधर है। यह भारत अौर अमे‍रिका के संबंधों का स्‍वर्ण युग है।
सड़कों संबंधी सवाल पर सीएम ने दोहराया कि उन्‍हें वाशिंगटन से बेहतर इंदौर के सुपर कॉरिडोर की लगी। वे अपने बयान पर कायम हैं। उन्‍होंने कहा कि वे अमेरिका मप्र की ब्रांडिंग करने गया था। हमने कई सड़कें बहुत अच्‍छी बनाई हैं।
मुख्‍य‍मंत्री ने कहा कि इस मसले पर राजनीति अफसोसजनक है। शिवराज के अनुसार हम अपने अच्‍छे कामों का गर्व के साथ आगे भी प्रोजेक्‍शन जारी रखेंगे। 
मप्र में डेढ़ लाख किलोमीटर लंबी सड़कें बनाई गई हैं। यह अभियान जारी रहेगा। वाशिंगटन डीसी की 92 प्रतिशत सड़कें कमजोर हालत मेें हैं। कांग्रेस सड़कों पर राजनीति कर रही है यह ठीक नहीं है।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment