'भीष्म पितामह' हूं, अर्थव्यवस्था का चीर-हरण नहीं होने दूंगा : सिन्हा

नई दिल्ली : अर्थव्यवस्था पर सत्ताधारी दल भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) में आरोप-प्रत्यारोप का दौरा जारी है.
 बीजेपी के वरिष्ठ नेता यशवंत सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 'शल्य' वाले बयान पर पलटवार करते हुए कहा कि मैं भीष्म हूं, अर्थव्यवस्था का चीर हरण नहीं होने दूंगा.
अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में वित्त मंत्री रहे यशवंत सिन्हा ने कहा, 'पीएम मोदी ने 'शल्य' का जिक्र किया है. मैं 'भीष्म पितामह' हूं. किसी भी कीमत पर अर्थव्यवस्था का चीर-हरण नहीं होने दूंगा.'
पीएम मोदी द्वारा अर्थव्यवस्था को लेकर पूर्ववर्ती यूपीए सरकार को जिम्मेदार ठहराए जाने पर सिन्हा ने कहा, 'एनडीए सरकार की तुलना करने का कोई तुक नहीं है.'
उन्होंने कहा कि जनता ने यूपीए सरकार को आम चुनाव में नकार दिया और एनडीए को मौका दिया. आने वाले चुनाव में यही जनता सरकार के काम के आधार पर ही फैसले लेगी.
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेकेट्ररीज के स्वर्ण जयंती समारोह को संबोधित करते हुए कहा था कि कुछ लोग नकारात्मकता फैला रहे हैं.
मोदी ने आलोचकों की तुलना महाभारत के 'शल्य' से की, जो कर्ण का सारथी था. वह हमेशा राजा को हतोत्साहित करता रहता था. मोदी ने कहा कि ऐसे लोगों को पहचानने की जरूरत है.
मोदी ने कहा कि उनकी 'सरकार संवेदनशील है और कड़ी आलोचना का भी स्वागत करती है और हम उन सभी को विनम्रता और गंभीरता से लेते हैं.'
मोदी ने कहा, 'मैं सभी को, अपने आलोचकों को भी, आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम ऐसा नहीं मानते कि सबकुछ गलत है. लेकिन नकारात्मकता फैलाने से बचना चाहिए
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment