BJP दफ्तर में तोड़फोड़ का मामला : हार्दिक पटेल के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी

विसनगर सेशन कोर्ट ने पाटीदार नेता हार्दिक पटेल, लालजी पटेल और अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया है. यह वारंट साल 2015 में बीजेपी विधायक ऋषिकेश पटेल के कार्यालय में तोड़फोड़ करने के मामले में कोर्ट में पेश नहीं होने पर जारी किया गया है.
 इस मामले में हार्दिक लगातार दूसरी बार अदालत के समक्ष पेश नहीं हुए थे, जबकि लालजी पटेल और अन्य पहली बार अदालत में अनुपस्थित थे.
हार्दिक पटेल और लालजी पटेल पर साल 2015 में बीजेपी विधायक के कार्यालय में हमला करने में शामिल होने का आरोप है.
 विसनगर सत्र अदालत के न्यायाधीश वीपी अग्रवाल ने पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल, सरदार पटेल ग्रुप (एसपीजी) के संयोजक लालजी पटेल और पांच अन्य के खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी किया. इन लोगों को पूर्व में मामले में जमानत मिल गयी थी.
बुधवार को आरक्षण आंदोलन के नेता ने अपने वकील राजेंद्र पटेल के जरिये व्यस्त कार्यक्रम का हवाला देते हुए व्यक्तिगत पेशी से छूट देने की मांग को लेकर याचिका दायर की थी, लेकिन अदालत ने उसे खारिज कर दिया. 
वहीं, गहलोत और भरत सोलंकी ने कहा कि हार्दिक पटेल के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी करना निंदनीय है. विसनगर की स्थानीय अदालत ने पाटीदार नेताओं के खिलाफ उस वक्त गिरफ्तारी वारंट जारी किया है, जब गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर घमासान जारी है.
बुधवार को चुनाव आयोग ने गुजरात चुनाव की तारीखों का भी ऐलान कर दिया है. गुजरात में पहले चरण में 89 विधानसभा सीटों के लिए नौ दिसंबर को वोट डाले जाएंगे, जबकि दूसरे चरण के तहत 93 विधानसभा सीटों के लिए 14 दिसंबर को मतदान होगा. 

Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment