गौस मोहम्मद के बेटे ने कहा- पिता से कोई हमदर्दी नहीं है

लखनऊ : यूपी एटीएस और एसटीएफ ने गुरुवार को खुरासान मॉडय़ूल के मास्टरमाइंड गौस मोहम्मद खान और आतंकी मोहम्मद अजहर को गिरफ्तार किया है. 

इन दोनों से खुफिया एजेंसियां पूछताछ कर रही हैं. प्राप्त जानकारी के अनुसार गौस वर्ष 1978 में एयरफोर्स में भर्ती हुआ था और 1993 में कारपोरल के पद से स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति ली थी. यूपी एटीएस ने इस बात का दावा किया है.

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर की माने तो पुलिस ने बताया कि गौस मोहम्मद खान ने भारतीय वायु सेना में 15 साल सेवा दी है. 
वह एक कट्टर आतंकी मॉड्यूल का हिस्सा था, जो कथित तौर पर भोपाल-उज्जैन पैसेंजर ट्रेन बम धमाके के लिए जिम्मेदार है.
मामले को लेकर पकड़े गये गौस मोहम्मद के बेटे अब्दुल कादिर का कहना है कि उसे अपने पिता से कोई हमदर्दी नहीं है. जो देश का नहीं हो सका, वह हमारा का क्या होगा?
 कादिर ने कहा कि उसे नहीं पता उसके पिता कहां हैं? एटीएस ने उन्हें यहां घर से गिरफ्तार नहीं किया है. 
हमारे परिवार की पिता से नहीं बनती थी और ना ही कोई उनसे बात करता था. पिता जी जब लखनऊ से आते थे और यहां घर में होते थे, तो लोग अक्सर उनसे मिलने आते थे. आखिरी बार कुछ दिन पहले वह घर आये थे.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment