ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट : उद्योगपतियों ने राज्य के विकास के प्रति ईमानदार प्रयास के लिये CM शिवराज की खुलकर प्रशंसा की

इंदौर : दो.दिवसीय ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2016 के पहले दिन समिट में आये देश विदेश के उद्योगपतियों ने आज मुख्यमंत्री  शिवराजसिंह चौहान की खुलकर प्रशंसा की।

किसी राज्य के मुख्यमंत्री की इतनी खुलकर प्रशंसा पहले किसी सार्वजनिक आयोजन में इतने व्यापक रूप में नहीं देखी गई।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने औद्योगिक निवेश के लिये एक के बाद लगातार समिट करवाकर सुविचारित और सुव्यवस्थित तरीके से राज्य में अधोसंरचना का निर्माण किया जो युवाओं को रोजगार कृषि आधारित उद्योगों के विकास के फलस्वरूप कृषि को प्रोत्साहन पर्यटन वस्त्र निर्माण सूचना प्रौद्योगिकी ऑटोमोबाइल और अन्य क्षेत्रों में टिकाऊ विकास को कायम रखने का ईमानदार प्रयास है।

आज इन प्रयासों को सभी वक्ताओं ने समर्थन देते हुए मुख्यमंत्री श्री चौहान के प्रति स्नेह और सम्मान की सार्वजनिक अभिव्यक्ति की।

समिट के शुभारंभ सत्र में वैसे तो 22 वक्ताओं ने अपने विचार व्यक्त किये जो मध्यप्रदेश की पुरानी तस्वीर गत एक दशक में किये गये विकास के फैसलों और निवेश के प्रयासों और भविष्य में होने वाली प्रगति पर केन्द्रित रहे।

कुछ वक्ताओं ने जिस तरह मुख्यमंत्री श्री चौहान की विकास के लिये की गयी ईमानदार कोशिशों का उल्लेख किया वह बहुत कम देखने को मिलता है। उद्योगपतियों ने श्री चौहान की सहजता और राज्य के विकास के प्रति उनकी प्रतिबद्धता की भूरि.भूरि प्रशंसा की।

हिन्दूजा ऑटोमेटिव के अध्यक्ष  हिन्दूजा ने मुख्यमंत्री को उद्योग हितैषी बताया। आदित्य बिड़ला समूह के अध्यक्ष श्री कुमार मंगलम बिड़ला ने मध्यप्रदेश में निवेश के अनुभव को सुखद बताया। एडीएजी रिलायंस ग्रुप के अध्यक्ष श्री अनिल अंबानी ने कहा कि मध्यप्रदेश निवेश के लिये काफी आदर्श है।

सन फार्मास्युटिकल के एमडी श्री दिलीप संघवी ने मध्यप्रदेश में निवेश बढ़ाने की इच्छा व्यक्त की। पतंजलि लिमिटेड के प्रमुख स्वामी रामदेव  ने मध्यप्रदेश की आर्थिक विकास दर को अन्य प्रांतों से तीव्र बताते हुए ऐसे निवेश की योजना की जानकारी दी जो अगले दो वर्ष में मध्यप्रदेश के करीब दस हजार किसान को लाभ पहुँचायेगी।

 एसआर समूह के अध्यक्ष  शशि रूईया और ट्रायडेंट ग्रुप के अध्यक्ष श्री गुप्ता ने भी मुख्यमंत्री श्री चौहान की उद्योगों को प्रोत्साहित करने की नीति को सभी राज्यों से बेहतर बताया।

समिट में आज मुख्यमंत्री श्री चौहान का सम्बोधन समाप्त होते ही उन्हें केन्द्रीय वित्त मंत्री  अरूण जेटली और केन्द्रीय संचार और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री श्री रविशंकर प्रसाद ने जिस तरह गले लगायाए वह दृश्य दुर्लभ था।

 जिस मध्यप्रदेश में न सिर्फ निवेशक बल्कि आम पर्यटक और मध्यप्रदेश के निवासियों के मित्र.रिश्तेदार भी यहाँ की दुरावस्था को देख आने से कतराते थे वे आज मध्यप्रदेश को सभी प्रदेशों से अलग और अनूठा मानते हैं।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment