.....

ब्रांड मध्यप्रदेश दुनिया के विकसित राज्यों में स्थापित हो चुका है : शिवराज सिंह चौहान


भोपाल । मुख्यमंत्री  शिवराज सिंह चौहान की अमेरिका यात्रा के दौरान मध्यप्रदेश में इन्वेस्टमेंट और सोशल सेक्टर में महत्वपूर्ण प्रस्ताव अमेरिकी कंपनियों से प्राप्त हुए हैं।

 मुख्यमंत्री ने स्वदेश वापसी पर बताया कि सरकार के पिछले दस वर्षों के अथक प्रयासों से अब ब्रांड मध्यप्रदेश दुनिया के विकसित राज्यों में स्थापित हो चुका है।

 अब विदेशी कंपनियाँ प्रदेश में पूँजी निवेश के लिये आतुर है। प्रदेश के औद्योगिक वातावरणए इज ऑफ डूईंग बिजनेसए सर्वश्रेष्ठ अधोसंरचना जैसे भूमिए पानी पॉवर रेल रोड एवं एयर कनेक्टिविटी औद्योगिक शांति तथा बेहतर लॉ एण्ड आर्डर के कारण विदेशी कंपनियाँ प्रदेश में पूँजी निवेश को प्राथमिकता दे रही हैं।

श्री चौहान ने कहा कि उनकी यात्रा अपने उद्देश्यों में उम्मीदों से अधिक सफल रही है। इस यात्रा में रोजगार के अधिक से अधिक अवसर बढ़ाने का विशेष प्रयास किया गया।

आई टी कम्पनी से एमओयू किये हैं जिनमें 1000 करोड़ के पूँजी निवेश से 10000 से अधिक लोगों को रोजगार प्राप्त होगा।

कुल 25 कम्पनियों से वन.टू.वन चर्चा की गई एवं 100 कम्पनियों ने निवेशक सम्मेलन में भाग लिया। सभी ने मध्यप्रदेश को पूँजी निवेश की दृष्टि से सर्वाधिक उपयुक्त प्रदेश बताया।

मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने प्रदेश में निवेश की संभावनाओंए प्रदेश की औद्योगिक नीतिए इज ऑफ डूईंग बिजनेसए त्वरित निर्णय लिये जाने की व्यवस्था बताते हुए कम्पनीज को मध्यप्रदेश में पूँजी निवेश के लिये एवं जीआईएस के लिये आमंत्रित किया।

 लगभग दो सौ से अधिक उद्योग समूहों के प्रतिनिधि जीण्आईण्एसण् 2016 में भाग लेंगे। यात्रा के दौरान ट्रायफेक.सीआईआई.यूएसआईबीसी के संयुक्त तत्वावधान में एक निवेशक सम्मेलन आयोजित किया गया।

 इस सम्मेलन में अमेरिका की लगभग 100 कम्पनियों के 150 प्रतिनिधियों ने भाग लिया। इस सेमीनार में लंबे समय तक भारत में अमेरिका के राजदूत रह चुके  फ्रेंक वाईजनरए जो वर्तमान में अमेरिका और इंडिया के संबंधों को नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिये  डिया फर्स्ट संस्था से जुड़े हैंए भी शामिल हुए।


यात्रा के दौरान यूएसटी ग्लोबलए नेटलिंक एवं दावत फूड द्वारा पाँच एमओयू हस्ताक्षरित किये गये। इनमें 2 प्रस्ताव आईण्टीण् सेक्टर मेंए 5 मेन्यूफ्रेक्चरिंग सेक्टर मेंए इडंस्ट्रियल पार्क की स्थापना और विदेशी निवेश से इकाइयों की स्थापना के प्रस्ताव प्राप्त हुए।

 साथ ही प्रदेश की अधोसंरचना में टेंडर के माध्यम से पूँजी निवेश के भी चार प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। स्वास्थ्य एवं सामाजिक क्षेत्र में कार्य के लिए विश्व विख्यात औषधि कंपनीए अमेरिकावासी भारतीय मूल के चिकित्सकों के संगठनए अमेरिकी स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रस्ताव भी मिले हैं।

श्री चौहान ने बताया कि आईण्टीण् क्षेत्र में प्राप्त प्रस्तावों में  ग्लोबल द्वारा 650 करोड़ रूपये के निवेश से 5000 व्यक्तियों को रोजगार देने का प्रस्ताव मिला है।

 इसमें 1000 महिलाओं के लिये रोजगार शामिल हैं। इसी प्रकार सिरियस एक्सम द्वारा 100 करोड़ रूपये के निवेश से 3000 व्यक्तियों कोए टीण्डब्ल्यूण्आरण् कंपनी द्वारा 100 करोड़ रूपये के निवेश से 1000 और एरेक्स इन्फोटेक्ट द्वारा 100 करोड़ रूपये के पूँजी निवेश से 1000 व्यक्तियों को रोजगार देने के परियोजना प्रस्ताव दिये गये हैं।

इसके साथ ही कौल ग्रुप के राजीव कौल को आईण्टीण् पार्क की स्थापना के लिए 25 एकड़ भूमि पूर्व से ही दी जा चुकी है। कम्पनी ने शीघ्र इस पार्क में निर्माण प्रारंभ करने का आश्वासन दिया है। इसी तरह कम्पनी के प्रतिनिधि जेफटोल इंदौर क्रिस्टल आईण्टी पार्क में एक  की स्थापना करेंगे। इन्हें आईण्टी पार्क में स्थान उपलब्ध कराया जायेगा। बीपीओ में कम से कम 500 लोगों को रोजगार प्राप्त होगा।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment