भारतीय सेना की ताकत बढ़ाएगा देश का पहला मानवरहित टैंक

नई दिल्ली : रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन (डीआरडीओ) ने एक मानवरहित, रिमोट से संचालित होनेवाला टैंक तैयार किया है. 
ये टैंक सर्विलांस, बारूदी सुरंग का पता लगाने वाला और जिन इलाकों में परमाणु और जैविक हमलों का अंदेशा है, वहां गश्ती लगाने मे सक्षम हैं. इस टैंक का नाम मंत्रा (MUNTRA) रखा गया है. ये देश का पहला मानवरहित टैंक है.
इस टैंक के तीन तरह के मॉडल विकसित किए गए हैं. टैंक को कॉम्बैट वीइकल्स रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट इस्टैबलिशमेंट इसे बनाया है और सेना के लिए इसका परीक्षण किया है. 
टैंकों का परीक्षण राजस्थान के रेगिस्तानी इलाकों के तेज तापमान में किया गया है. परीक्षण के दौरान सेना ने इस टैंक को सफलापूर्वक संचालित किया.
 इसमें निगरानी रडार, कैमरा, लेजर रेंज का पता लगाने वाली डिवाइस है. इससे जमीन पर 15 किलोमीटर की दूरी तक भारी वाहनों का पता लगाया जा सकता है.
पैरामिलिट्री फोर्स ने इस टैंक को कुछ बदलावों के साथ नक्सल प्रभावित इलाकों में इस्तेमाल करने की रुचि जाहिर की है. 
बख्तरबंद टैंक की तरह डिजाइन किए गए रिमोट से ऑपरेट होने वाले ये टैंक अवाडी में साइंस फॉर सोल्जर्स नाम की प्रदर्शनी में डिस्प्ले में रखे गए हैं. यह प्रदर्शनी पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम को श्रद्धांजलि देने के लिए डीआरडीओ ने आयोजित की.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment