.....

भारत और वियतनाम ने किए 12 समझौतों पर हस्ताक्षर, डिफेंस, आईटी में सहयोग

हनोई:  भारत और वियतनाम ने अपने सामरिक संबंधों को और मजबूत बनाने का संकेत देते हुए रक्षा, आईटी, अंतरिक्ष, दोहरे कराधान से बचाव और मालवाहक पोतों संबंधी वाणिज्यिक नौवहन सूचना साझा करने समेत विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े 12 समझौतों पर आज हस्ताक्षर किए.

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वियतनाम में उनके समकक्ष न्गुयेन शुयान फुक की मौजूदगी में दोनों पक्षों के अधिकारियों ने यहां समझौतों पर हस्ताक्षर किए.

भारत और वियतनाम ने अपने सामरिक संबंधों को और मजबूत बनाने का संकेत देते हुए रक्षा, आईटी, अंतरिक्ष, दोहरे कराधान से बचाव और मालवाहक पोतों संबंधी वाणिज्यिक नौवहन सूचना साझा करने समेत विभिन्न क्षेत्रों से जुड़े 12 समझौतों पर आज हस्ताक्षर किए.

पिछले 15 सालों में इस कम्युनिस्ट देश की यात्रा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का स्वागत वियतनाम के राष्ट्रपति त्रान दाई क्वांत ने किया.

 भूरी जैकेट के साथ सफेद चूड़ीदार कुर्ता पहने मोदी को इसके तत्काल बाद भवन के पास स्थित उस पारंपरिक मकान में ले जाया गया जहां वियतनाम के प्रिय नेता हो ची मिन्ह 1958 से 1969 के दौरान रुके थे. उन्हें वियतनाम के राष्ट्रपति ने भवन दिखाया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वियतनाम में उनके समकक्ष न्गुयेन शुयान फुक की मौजूदगी में दोनों पक्षों के अधिकारियों ने यहां समझौतों पर हस्ताक्षर किए.

 विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने ट्वीट किया, ‘मित्रता के लिए 12 समझौते। भारत और वियतनाम ने सामरिक साझेदारी को और मजबूत करने के लिए एक दर्जन समझौतों पर हस्ताक्षर किए.’ 

वियतनाम ने हवाई एवं रक्षा संबंधी उत्पादन में गहरी रुचि दिखाई है. भारत की एल एंड टी वियतनाम के तटरक्षक बल के लिए उच्च गति वाली अपतटीय गश्ती नौकाओं का निर्माण करेगी.

 इसके अलावा संयुक्त राष्ट्र शांतिरक्षा मामलों में सहयोग के कार्यक्रम संबंधी एक समझौते पर हस्ताक्षर किए गए.
 
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a comment