मुरथल : दुष्कर्म मामले में जांच समिति गठित, सीएम बोले- दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा

सोनीपत के मुरथल में जाट आंदोलन के दौरान कथित दुष्कर्म मामले की जांच के लिए तीन महिला अफसरों की समिति का गठन किया गया है। हरियाणा के डीजीपी यशपाल सिंघल ने शुक्रवार को इसकी जानकारी दी। समिति का नेतृत्व डीआईजी डीआर राजश्री को सौंपा है। तीनों महिला अफसर सोनीपत में ही तैनात रहेंगी।

इस बीच हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने कहा है कि मुरथल मामले की जांच कराई जाएगी। दोषियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

डीएसपी भारती डबास और सुरिंदर कौर समिति की सदस्य होंगी। मौके से मिले महिलाओं के कपड़ों को फोरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है। हालांकि डीजीपी ने कहा है कि अब तक गैंगरेप की बात सामने नहीं आई है। उधर, हाईकोर्ट की सख्ती के बाद राष्ट्रीय महिला आयोग की सदस्य रेखा शर्मा खुद जांच के लिए मुरथल पहुंचीं।

एक अखबार की रिपोर्ट के मुताबिक  22 फरवरी को मुरथल में एनएच-1 पर कुछ गाडि़यों को रोककर उनमें सवार 10 महिलाओं से गैंगरेप किया गया। घटनास्थल पर महिलाओं के कपड़े और जली हुई गाडि़यां भी मिलीं। 
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment