छग के कांग्रेस विधायक के बिगड़े बोल, कहा- अफसरों को जूता मारो

अम्बिकापुर : छत्तीसगढ़ में सत्तारूढ़ दल कांग्रेस के नेताओं का विवादित बयान इन दिनों सोशल मीडिया पर चर्चा में है। मंत्री कवासी लखमा के विवादित बोल बड़ा नेता बनना है तो कलेक्टर-एसपी का कालर पकड़ो का वीडियो वायरल होने पर मचा बवाल अभी थमा नहीं है। इस बीच कांग्रेस के विधायक बृहस्पति सिंह ने एक शासकीय कार्यक्रम के मंच से अफसरों को जूता मारो और जेल भेजो जैसे भड़काऊ भाषण देकर एक बार फिर बखेड़ा कर दिया है।
किसानों की कर्जमाफी के बावजूद कथित रूप से अधिकारियों द्वारा नोटिस भेजकर वसूली के लिए दबाब बनाया जा रहा है। विधायक बृहस्पति सिंह ने शासकीय मंच से इस पर बयान दिया कि किसानों से धोखाधड़ी बर्दाश्त नही की जाएगी। किसानों से धोखाधड़ी करने वाले अधिकारियों को जेल भेजो, जरूरत पड़े तो जूता मारो। यह भाषण खाद्य मंत्री, कलेक्टर, एसपी की मौजूदगी में शासकीय मंच से दिया।
जिला मुख्यालय बलरामपुर के जिस मंच से विधायक बृहस्पति सिंह ने यह भाषण दिया उस मंच पर प्रदेश के खाद्य मंत्री अमरजीत भगत,बलरामपुर कलेक्टर संजीव झा,एसपी टीआर कोशिमा के साथ विभिन्न विभागों के अधिकारी व जनप्रतिनिधि भी मौजूद थे। नवीनीकृत राशन कार्ड वितरण के शासकीय समारोह में विधायक बृहस्पति सिंह का दिया गया यह भाषण सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है।
समारोह में शुरू से ही विवाद की स्थिति थी । भाजपा से जुड़े जनप्रतिनिधि आमंत्रण पत्र में नाम नहीं होने के कारण नाराज थे। उन्होंने भीड़ के साथ जमीन पर बैठकर प्रशासनिक व्यवस्था पर सवाल उठाया। इस दौरान भी विधायक बृहस्पति सिंह ने भाजपाइयों पर निशाना साधा । उन्होंने कहा कि जब हम विपक्ष में थे तब भी हमारे साथ ऐसा ही होता था लेकिन हमारी सोच ऐसी नहीं है । उन्होंने कहा कि विरोध का यह तरीका उचित नहीं है । यदि मंच में आकर बैठना है तो भाजपाइयों को भी आकर बैठना चाहिए ।
 इस पूरे घटनाक्रम के बाद जब समारोह को संबोधित करने की बारी आई तो विधायक बृहस्पति सिंह ने राज्य सरकार द्वारा किसानों की कर्ज माफी किए जाने के बावजूद अधिकारियों द्वारा उसका सही तरीके से लाभ नहीं दिए जाने और किसानों के साथ धोखाधड़ी किए जाने का आरोप लगाया । विधायक बृहस्पति सिंह ने कहा कि बैंक अधिकारियों द्वारा किसानों के साथ धोखाधड़ी की जा रही है।
राज्य सरकार द्वारा किसानों को कर्ज माफी का लाभ दिया गया है, लेकिन बलरामपुर जिले में सरकार की कर्ज माफी में गडबड़ी के आरोप लग रहे हैं । पिछले दिनों ऐसे ही मामले में छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक अधिकारी संघ द्वारा विधायक बृहस्पति सिंह और बैंक के एक अधिकारी के बीच हुई बातचीत का ऑडियो मीडिया को उपलब्ध कराया गया था ।इस ऑडियो को लेकर संघ के पदाधिकारियों की बैठक आहूत की गई ।
 विधायक पर छत्तीसगढ़ राज्य ग्रामीण बैंक अधिकारी संघ ने बैंक के अधिकारी के साथ अपमानजनक व्यवहार करने का आरोप लगाते हुए उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया था। बैंक अधिकारी संघ ने निर्णय लिया था कि वे वस्तुस्थिति से स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंहदेव को अवगत कराते हुए आग्रह करेंगे कि ऐसे अपमानजनक व्यवहार के लिए विधायक खेद प्रकट करें।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment