पंचतत्व में विलीन हुए अरुण जेटली, निगम बोध घाट पर हुआ अंतिम संस्कार

नई दिल्ली: पूर्व वित्तमंत्री अरुण जेटली का निगम बोध घाट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया. इस दौरान उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे. हिंदू रीति रिवाज से हुए अंतिम संस्कार में अरुण जेटली के बेटे ने उन्हें मुखाग्नि दी. 

इस दौरान गृह मंत्री अमित शाह, रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद समेत कई बीजेपी नेता भावुक नजर आए. बीजेपी के अलावा बाकी दलों के नेताओं ने भी निगम बोध घाट पर जेटली को अंतिम विदाई दी. इस दौरान दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल और डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया भी मौजूद रहे. कपिल सिब्बल समेत कई कांग्रेस नेताओं ने भी जेटली को अंतिम विदाई दी.
बता दें कि पूर्व वित्त मंत्री और बीजेपी के वरिष्ठ नेता अरुण जेटली का शनिवार को 66 साल की उम्र में निधन हो गया था. उनको बीते 9 अगस्त को दिल्ली के एम्स में भर्ती करवाया गया था. उस समय उनको सांस लेने में तकलीफ हो रही थी. लेकिन अस्पताल में भर्ती होने के बाद उनकी हालत लगातार बिगड़ती चली गई. कुछ साल पहले ही उनकी बैरियाट्रिक सर्जरी की गई थी. 
अरुण जेटली की हालत बीते शुक्रवार को ही बिगड़ गई थी. अरुण जेटली को सांस लेने में तकलीफ को लेकर नौ अगस्त को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती कराया गया था. उनका बीते गुरुवार को डायलसिस किया गया था.
अरुण जेटली के निधन पर राजनीतिक गलियारों में शोक छा गया. पक्ष और विपक्ष के कई नेताओं ने जेटली के निधन पर दुख व्यक्त किया. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू और पीएम मोदी ने अरुण जेटली के निधन को देश और राजनीति की बड़ी क्षति बताया और गहरा दुख प्रकट किया. पीएम मोदी ने कहा कि उन्होंने एक बहुत अच्छा दोस्त खो दिया. 
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment