MP : शहडोल, बालाघाट और राजगढ़ में BJP उम्मीदवारों का पार्टी में ही विरोध

भोपाल  : बालाघाट सांसद बोधसिंह भगत का टिकट काटकर डॉ. ढाल सिंह बिसेन को प्रत्याशी बनाने पर भाजपा के कार्यकर्ताओं में क्षेत्रवाद का नया विवाद शुरू हो गया है।
सिवनी बनाम बालाघाट के नाम पर कार्यकर्ता बंट गए हैं। वहीं राजगढ़ में सांसद रोडमल नागर का विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। शहडोल सांसद ज्ञान सिंह को दिल्ली बुलाया गया है।
पार्टी ने अब तक 18 लोकसभा क्षेत्रों के टिकट बांट दिए हैं, लेकिन उसमें से कुछ सीटों पर मौजूदा प्रत्याशियों को लेकर विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है।
 सबसे ज्यादा विरोध बालाघाट के प्रत्याशी डॉ. ढाल सिंह बिसेन को लेकर है। यहां पूर्व मंत्री गौरीशंकर बिसेन और सांसद बोधसिंह भगत में छत्तीस का आंकड़ा है।
बिसेन खुद की बेटी को टिकट दिलाना चाहते थे, न मिलने पर उन्होंने समझौते के प्रत्याशी डॉ. ढाल सिंह बिसेन का समर्थन कर दिया। जब ढाल सिंह बालाघाट पहुंचे तो भगत समर्थकों ने भाजपा कार्यालय में घुसने नहीं दिया और ताला जड़ दिया।
 मामले को ठंडा करने के बजाय गौरीशंकर बिसेन ने विवाद और बढ़ा दिया। बिसेन ने ताला तोड़ा और भगत समर्थकों को डांटा-फटकारा भी।
सांसद बोध सिंह भगत विवाद के पहले से ही अंडरग्राउंड हो गए हैं। समर्थकों ने दावा किया कि टिकट नहीं बदली तो भगत निर्दलीय लड़ेंगे। 
राजगढ़ में विरोध में मुहिम जारी सोशल मीडिया पर राजगढ़ सांसद रोडमल नागर के विरोध में मुहिम चल रही है। इसमें आम लोग भी नागर को टिकट दिए जाने के प्रति नाराजी जता रहे हैं। एक दिन पहले खिलचीपुर में नागर के विरोध में पुतला जलाया गया।
 ज्ञान सिंह दिल्ली में शहडोल सांसद ज्ञान सिंह इन दिनों दिल्ली में डेरा डाले हैं। शिवराज सिंह चौहान ने ज्ञान सिंह को आश्वासन दिया है कि हाईकमान से बातचीत कराएंगे। शहडोल में भी कार्यकर्ता कांग्रेस प्रत्याशी हिमाद्री सिंह का विरोध कर रहे हैं।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment