पुलवामा हमला के बाद PAK पर मिसाइल हमले की तैयारी में था भारत

नई दिल्ली : पाकिस्तान ने भारतीय वायु सेना के जांबाज पायलट अभिनंदन वर्तमान को बंदी बनाने के दो दिन के बाद यूं ही नहीं छोड़ दिया था।
 भारत ने अपने पायलट को नहीं छोड़ने पर पाकिस्तान को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी थी। भारत ने साफ कर दिया था कि अगर अभिनंदन की जल्द रिहाई नहीं होती है तो वह पाकिस्तान पर मिसाइल हमला करेगा।
भारत ने छह मिसाइलें दागने की सख्त चेतावनी दी थी। पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए नौसेना ने भी अपनी परमाणु पनडुब्बी को अरब सागर में तैनात कर दिया था। 
भारत की चेतावनी के बाद सतर्क हुए अमेरिका ने अपने राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार डॉन बोल्टन समेत कई अधिकारियों को दोनों देशों के बीच तनाव कम कराने के काम में लगाया था।
नई दिल्ली, इस्लामाबाद और वाशिंगटन में राजनयिक और सरकारी सूत्रों ने बताया कि पुलवामा में आत्मघाती हमले के बाद दोनों देशों के बीच तनाव बढ़ गया था। 
पाकिस्तान द्वारा भारतीय वायु सेना के पायलट अभिनंदन वर्तमान को बंदी बनाए जाने के बाद दोनों देशों के बीच तनाव चरम पर पहुंच गया। 
भारत ने पाकिस्तान को सख्त लहजे में चेतावनी दे दी, अगर अभिनंदन की रिहाई नहीं होती है तो वह मिसाइल हमला करेगा। भारत ने पाकिस्तान पर छह मिसाइलें दागने की चेतावनी दी थी। 
पाकिस्तान ने भी जवाब में तीन गुणा मिसाइलें दागने की गीदड़ भभकी दी थी परमाणु हथियारों से लैस दोनों पड़ोसियों के बीच युद्ध की स्थिति पैदा होने की भनक से ही अमेरिका, चीन और ब्रिटेन के सरकारी गलियारे में बेचैनी बढ़ गई। 
2008 के बाद यह पहला मौका था जब भारत और पाकिस्तान के बीच युद्ध जैसे हालात पैदा हुए थे। अमेरिका ने अपने एनएसए बोल्टन, विदेश मंत्री माइक पोंपियो समेत कई अधिकारियों को दोनों देशों के बीच तनाव कम कराने के काम में लगाया।
 बोल्टन और पोंपियो भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और पाकिस्तानी अधिकारियों से लगातार संपर्क में रहे। और भी कई माध्यमों से दोनों देशों को शांत कराने की कोशिश हुई।
 भारत की चेतावनी और अमेरिका समेत दूसरे देशों के राजनयिक प्रयासों ने काम किया। पाकिस्तान ने अभिनंदन को सकुशल रिहा किया, जिसके बाद दोनों देशों के बीच तनाव में कमी आ सकी थी।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment