इजरायल में PM मोदी का भव्य स्वागत, बेंजामिन ने हाथ जोड़कर नमस्ते किया कहा- आपका स्वागत है मेरे दोस्त

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज से तीन दिनों की इजरायल यात्रा पर पहुंच गए हैं. पीएम भारतीय समयानुसार मंगलवार शाम करीह साढ़े 6 बजे तल-अवीव पहुंचे, जहां इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू प्रोटोकॉल तोड़कर खुद एयरपोर्ट पर पीएम का स्वागत किया.
इस अवसर पर मोदी के स्वागत भाषण में बेंजामिन नेतन्याहू ने पहले हाथ जोड़कर नमस्ते किया और हिंदी में कहा-आपका स्वागत है मेरे दोस्त. नेतन्याहू ने कहा कि जब मैं आपसे पहली बार मिला तो हम भारत और इजरायल के बीच संबंध को आगे ले जाने पर सहमत हुए.
 फिर हम पेरिस में मिले तब से कई बार आपसे फोन पर बात हो चुकी नेतन्याहू ने कहा कि मुझे याद है कि आपने कहा था कि जब भारत और इजरायल के संबंधों की बात आती है तो स्काई इज द लिमिट लेकिन आज मैं कहना चाहता हूं कि स्काई की भी लिमिट नहीं है क्योंकि आज हमारी साझेदारी स्पेस प्रोग्राम तक पहुंच गई है. नेतन्याहू ने अपने भाषण का अंत में भी मोदी का स्वागत करते हुए उन्हें अपना दोस्त कहकर संबोधित किया.
नेतन्याहू ने कहा कि हम भारत से प्यार करते हैं. आपकी संस्कृति, इतिहास, लोकतंत्र और तरक्की के प्रति संकल्प के मुरीद हैं. उन्होंने कहा कि मैं भारत और इजरायल के संबंधों की सफलता के प्रति आश्वस्त हूं.
इस अवसर पर पीएम मोदी ने अपने भाषण में इजरायली पीएम बेंजामिन नेतन्याहू का उन्हें आमंत्रित करने और एयरपोर्ट पर गर्मजोशी भरा स्वागत करने के लिए आभार जताया. 
पीएम मोदी ने कहा, मुझे भारत से आने वाले पहले प्रधानमंत्री बनकर गर्व हो रहा है. मैं यहां बड़ी संख्या में रहने वाले भारतीय मूल के यहूदियों से मिलना चाहता हूं. पीएम मोदी ने कहा कि दोनों देशों को मिलकर विकास की चुनौतियों का सामना करना है और आतंकवाद से भी मिलकर लड़ाई लड़नी है.
पीएम मोदी ने कहा, भारत-इजरायल के बीच जब से पूर्ण राजनयिक संबंध शुरू हुए है, तब से दोनों ने तरक्की की है. 
इजरायल लोकतांत्रिक सिद्धांतों पर बनाया गया देश है. विपरीत हालात के बावजूद इसने तरक्की की और चुनौतियों को अवसरों में बदला.
मोदी ने कहा कि भारत की सभ्यता पुरानी है लेकिन ये एक युवा देश है, जहां 80 करोड़ लोग 35 साल से कम उम्र के हैं और इजरायल की इकोनॉमी, बिजनेस करने का तरीका और दुनिया से रिश्ते हमें प्रेरित करते हैं.
पीएम मोदी ने कहा कि भारत इजरायल को अपना सबसे अहम साझीदार मानता है. उच्च तकनीकी शिक्षा, इनोवेशन के मामले में इजरायल आगे है. मेरा यह दौरा दोनों देशों के बीच बातचीत के नए दौर की शुरुआत करेगा.
पीएम मोदी की इस ऐतिहासिक यात्रा पर पूरी दुनिया की नजरें हैं. यह किसी भी भारतीय प्रधानमंत्री का पहला इजरायल दौरा है. मोदी के इस दौरे के दौरान इजरायल से 17 हजार करोड़ का रक्षा सौदा होने की संभावना जताई जा रही है.
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment