साउथ कश्मीर में 100 से ज्यादा आतंकी सक्रिय, आतंकियों की तलाश जारी

साउथ कश्मीर में 100 से ज्यादा आतंकी एक्टिव हैं। इनमें ज्यादातर यहीं के रहने वाले हैं। इन्हें नाकाम करने के लिए राज्य में ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं। एक आर्मी ऑफिसर ने यहां शनिवार को यह जानकारी दी। 

उन्होंने कहा कि 50 स्टूडेंट्स हंगामे में शामिल थे। उनमें कोई ‘वायरस’ आ गया था, जिसे हमने निकाल दिया है। बता दें कि जम्मू-कश्मीर में बीते कुछ महीनों से आतंकी वारदातों में बढ़ोत्तरी हुई है।

न्यूज एजेंसी के मुताबिक मेजर जनरल बीएस राजू ने कहा, हम कोशिश कर रहे हैं कि नई भर्तियों (आतंकियों की) को रोका जाए। इसके लिए राज्य की पुलिस के साथ मिलकर आर्मी उन यूथ्स और स्टूडेंट्स के परिवार वालों से बात कर रही है, जो इस रास्ते पर जा सकते हैं।

 बता दें कि मेजर जनरल राजू साउथ कश्मीर की सिक्युरिटी में लगाई गई विक्टर फोर्स के जनरल ऑफिसर कमांडिंग (जीओसी) हैं।  उन्होंने बताया कि आतंकियों की तलाश में ठीक वैसे ही ऑपरेशन चलाए जा रहे हैं, जैसे हाल ही में शोपियां में चलाए गए थे। जिन जगहों पर आर्मी अॉपरेशंस में दिक्कतें पैदा की गईं, वहां घेराव करके सर्च की जा रही है।

मेजर जनरल राजू यहां उमर फैयाज के परिवार से मिलने पहुंचे थे, जिनकी तीन दिन पहले आतंकियों ने हत्या कर दी थी। 
 उन्होंने कहा, हम इलाके (साउथ कश्मीर) में आतंकियों की मौजूदगी को लेकर चौकस हैं।

 वहां काफी ऊंचे पेड़ हैं, इसलिए वो कुछ आजाद हैं, लेकिन हम उनके मूवमेंट को रोकने और उन्हें नाकाम करने के लिए ऑपरेशंस चला रहे हैं। मीडिया के सवालों पर मेजर जनरल राजू ने कहा कि यहां 100 से ज्यादा आतंकी हैं और इनमें ज्यादातर यहीं के रहने वाले हैं।

 मेजर जनरल ने कहा कि स्टूडेंट्स को हौसला देने और उन्हें जिंदगी में आग बढ़ाने की जरूरत है और इसमें आर्मी उनका पूरा सपोर्ट कर रही है।  उन्होंने कहा, पांच कॉलेज के 40-50 स्टूडेंट्स थे जो हंगामे में शामिल थे। उनमें कोई वायरस आ गया था, जिसे हमने निकाल दिया है। हमें पूरा भरोसा है कि गर्मी सुकून से बीतेगी।

 बता दें कि बीते कुछ महीनों में साउथ कश्मीर के पुलवामा, कुलगाम और शोपियां समेत कई इलाकों में सिक्युरिटी फोर्सेस पर एक के बाद एक कई हमले हुए हैं। जवानों से हथियार छीनने और पत्थरबाजी की भी कई घटनाएं हुई हैं। इनमें कॉलेज स्टूडेंट्स भी शामिल रहे हैं।
Share on Google Plus

click News India Host

    Blogger Comment
    Facebook Comment

0 comments:

Post a Comment